Yuva Anand


Price : ₹158.00 /Pcs

Color :

1 Pcs Available
Add To Cart

पुरूषों के लिये आयुर्वेद के ग्रंथों में दी बहुमूल्य जड़ी-बूटियों से पौरूष इंद्रियों को

सुडौल, पुष्टि-बर्द्धक, बाजीकरण, काम-शक्ति व समय को बढ़ाकर पूर्ण संतुष्टि

एवं आनन्द प्राप्त करने के लिये बनायी अमूल्य उम्र की अधिकता या किसी भी कारण

से पौरूष इंद्रियों में आई कमी शिथिलत, पतलापन कमजोरी को दूर करने, पौरूष

इन्द्रियों में रक्त का संचार कर, नसों को मजबूत, सुडौल बनाकर काम-शक्ति एवं

वैवाहिक जीवन को सुखमय एवं आनन्द दायक बनाता है।


Specification

(1.).  कौंच बीज - बाजीकर , उत्तेजक , बल्य , धातु दोषहर , धातु पौष्टिक , मर्दाना कमजोरी
(2.).  सफेद मूसली  - नपुसंकता , बल्य ,
स्नेइन , शुक्र वृद्धि , शुक्र क्षीणता

(3.). अकरकरा – कामेचछा शक्ति , स्तम्भन , बल्य

(4.). सतवारी - मधुर , गुरु , शुक्रजनन , बल्य , नपुसंकता , शुक्रमेह

(5.).  बिहीदाना – बलकारक , शुक्रवर्धक बल्य , स्तम्भक

(6.). केशर - कामशक्ति बढ़ाता है , उतेजक , बल्य
(7.) विदारीकंद – शुक्रवर्धक , शीतवीर्य , धातु क्षीणता